जब भी किसी से मिलते हैं तो हम हैंडशेक करते हैं और कई बार वह हैंडशेक हमारी पर्सनालिटी के गूढ़ रहस्य को सामने ला देता है। वास्तव में हैंड शेक बताता है कि हमारे मनोभाव क्या हैं और हम उन मनोभावों को किस प्रकार से सामने वाले व्यक्ति तक प्रेषित करते हैं। आइए देखते हैं हैंड शेक के कामन प्रकार क्या है और वह किस प्रकार सामने वाले व्यक्ति को प्रभावित करते हैं।

Pic: img

डोमिनेंट हैंडशेक
इस प्रकार से हाथ मिलाना दूसरे व्यक्ति को अपनी पावर और डोमिनेंस दिखलाना होता है। अगर कोई व्यक्ति दूसरे व्यक्ति से बहुत जोर लगा कर हैंड शेक करता है तो इसे डोमिनेंट हैंडशेक कहा जाता है। ऐसे लोग अक्सर डांट डपट करने वाले होते हैं।

डी डबल हैंडर
कई बार आपको ऐसे लोग भी मिले होंगे जो दोनों हाथों से आपके हाथों को पकड़ कर हाथ मिलाते हैं ऐसे लोग ध्यान रखने वाले होते हैं। अक्सर देखने में आया है कि पॉलीटिशियंस और दूसरे सामाजिक लोग इस तरह का हैंडसेट करते हैं। यह लोगों में विश्वास जताने का भी एक जरिया है जो कहता है कि हम किसी भी मुद्दे पर बात करने के लिए ओपन है।

Pic: unleashgroup

सबमिसिव हैंडशेक
ऐसे हैंड शेक करने वाले लोग अपने अधीनस्थ व्यक्तियों से पेश आते हैं। यह एक शक्तिशाली और डोमिनेटिंग करैक्टर को भी डिफाइन करता है। इस तरह के लोगों में से जो लंबे समय तक अपना हाथ मिलाएं रखते हैं वह दूसरों पर अपना अधिकार जताना चाहते हैं। एक तरफ से पूरी तरह से नियंत्रण में लेने की स्थिति कही जा सकती है।

डेड फिश
यह सब से बुरा तरीका होता है हाथ मिलाने का। जब आपसे कोई बिल्कुल अनिच्छा से हाथ मिलाये जिसमें आप किसी भी प्रकार का उत्साह न महसूस करें, प्रेशर लो हो तब यह डेड फिश की कैटेगरी में आता है। अधिकतर कमजोर आत्म सम्मान वाले लोग इस तरह से हैंड शेक करते हैं।

Pic: fooyoh

फिंगर वाइस
कई बार लोग आपसे पूरा हाथ मिलाने के बजाय आप की अंगुलियों को पकड़ते हैं इस तरह की स्थिति एक तरह से अनिच्छा प्रकट करती है या फिर सामने वाला व्यक्ति इन सिक्योर महसूस करता है। सिर्फ अंगुलियों को टच करना यह भी शो करता है कि सामने वाला व्यक्ति आपको एक डिस्टेंस पर रखना चाहता है।

Leave a comment