अगर कहें कि योग सही तरीके से जीवन जीने का विज्ञान है तो यह गलत नहीं होगा। इसलिए तो इसे दैनिक जीवन में शामिल किये जाने की सलाह दी जाती है। योग आदमी के भौतिक, मानसिक, भावनात्मक, आत्मिक और आध्यात्मिक जीवन के पहलुओं पर काम करता हैं। योग का अर्थ होता है बांधना,अर्थात शरीर मन और भावनाओं को संतुलित करके एक जगह पर जोड़ना। और यह एकता आसन, मुद्रा, व ध्यान के जरीये प्राप्त की जा सकती है।

योग के करने से अनेक प्रकार के लाभ मिलते है जैसे: सम्पूर्ण स्वस्थ,वजन में कमी, चिंता से राहत प्रतिरोधक शक्ति मिलती है, ऊर्जा में वृद्वि तथा शारीरिक लचीलापन आदि। नीच दिए गए बिंदुओं से हम जानेंगे कि योग से
हमें क्या -क्या लाभ मिल सकता है।


Pic: jioraja

सम्पूर्ण स्वस्थ होना

आप तभी पूर्ण रूप से स्वस्थ होंगे जब आपका शारीरिक ही नहीं बल्कि मानसिक एवं भावनात्मक रुप से स्वस्थ होंगे। स्वस्थ शरीर का मतलब जीवन की उस गतिशीलता से हैं जो हमें बताती है कि आप जिंदगी में कितने खुश, प्रेम और ऊर्जा से भरे हुए है। योग ाकरने से आप हमेशा ही अपने आप को ऊर्जावान महसूस करेंगे।

Pic: youngisthan

वजन पर नियंत्रण

नियमित योगाभ्यास से आपका बढ़ा हुआ वजन धीरे -धीरे कम होने लगता है। इसके साथ ही आपका बेडौल शरीर सुन्दर शेप में भी आने लगता है। योग को हमेशा खाली पेट करना चाहिए । सूर्य नमस्कार और कपालभाती प्रणायाम के करने से तेजी से वजन को कम करने में मदद मिलती है। इसके अलावा योग को नियमित रूप से करने पर शरीर में रोग-व्याधि भी नहीं होता है और आपकी त्वचा भी चमकदार बनी रहती है।

तनाव से करें मुक्त

अगर आप दिनभर की भागदौड़ से आप चिढ -चिढ़े से हो गए हैं तो सुबह-शाम कुछ मिनट तक योग करके देखिये आपका तनाव बहुत जल्दी समाप्त हो जायेगा। योग दिनभर की मानसिक चिंताओं से मुक्ति दिलाता है। जैसे :योगासन, प्राणायाम और ध्यान तनाव को दूर करने में मदद करती और शरीर को तनाव तथा हानिकारक पदार्थो से मुक्त करता हैं। आधुनिक जीवन के तनाव भरे माहौल में व्यक्ति कई सारी परेशानियों से पीड़ित रहता है। योग इन सब से मुकाबला करने की एक विधि का नाम है।


Pic: youngisthan

मन की शांति

आप जितनी देर योग करते हैं उतनी देर आप बाहरी दुनिया से कट जाते हैं और आपका पूरा ध्यान अपने ऊपर होता है। जिससे हम अनुभव कर सकते है कि शांति हमारे मन के अंदर ही है ध्यान और योग के करने से मन की शांति मिलती हैं।

योग से प्रतिरोधक क्षमता में सुधार

शरीर में कोई अनियमितता मन को प्रभावित करता हैं तो मन में अशांति,निराश,थकान महसूस होती है तो यही रोग का कारण बन जाता है। जब व्यक्ति को अपने असंतुलन होनें का अनुभव होता है तब तक शरीर के अंग मांसपेशिया विपरित दिशाओं कार्य करने लगते हैं। इस स्थिति में योग से अंगो को सामान्य स्थिति में रखने तथा मांसपेशियों को शक्ति प्रदान करने में सहायता मिलती है। प्रणायाम और ध्यान करने से तनाव तो दूर होती ही है साथ ही साथ प्रतिरोधक क्षमता में सुधार होता हैं।


Pic: isha.sadhguru

ऊर्जा में वृद्धि

योग से शरीर को ऊर्जा मिलती है अगर दिनभर सम्पूर्ण काम करने शरीर थक जाती है तो नियमित समय पर कुछ मिनट तक योग के करने से शरीर में ऊर्जा एवं ताजगी का अहसास होगा।

सही बॉडी पॉस्चर

अगर आप अपने नियमित दिनचर्या में योग को शामिल करते हैं तो आप का शरीर कोमल एवं लचीलेपन से भरा रहेगा ।नियमित योग से शरीर मजबूत बनता है और मांसपेशियों को भी शक्ति mi बनता है । जिससे उठने, बैठने तथा खड़े होने आदि में सुधार लाता है जिससे मांसपेशिया में दर्द नहीं होते है

Leave a comment