स्वस्थ और मजबूत बाल किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व में चार चाँद लगा देतें है। लेकिन प्रदूषण, गंदगी और अस्वास्थ्यकर खाने की आदतों के कारण आज कल हर कोई बालों से जुड़ी कई समस्याओं से घिरा हुआ है। वहीँ भ्रामक विज्ञापनों के चक्कर में पड़ कर ऐसे हेयर केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करने लग जाते है जिनसे समस्या और बढ़ जाती है। वहीँ आज हम बालों की समस्याओं से आसानी से छुटकारा पाने में मदद करने वाले कुछ ऐसे तेलों के बारे में बात करेंगे जिनमें आवश्यक पोषक तत्व होते हैं जो बालों के विकास में मदद करते हैं।


Image Source : shadesofafrika.

आंवला तेल रोके बालों को गिरने से
आंवले के तेल में फैटी एसिड, विटामिन-सी और एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जिससे बालों की ताकत बढ़ती है और बालों का झड़ना कम होता है। वहीँ आंवला पूर्णतः आयुर्वेदिक है जिसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है।

Image Source: indiamart

खुजली को कम करे तुलसी का तेल
तुलसी में एंटीसेप्टिक और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। यह विटामिन सी और एंटीऑक्सिडेंट का एक समृद्ध स्रोत भी है। यह न केवल स्कैल्प को स्वस्थ बनाता है बल्कि उसे शीतलता भी प्रदान करता है। वहीँ तुलसी का तेल सूजन और जलन को शांत करने में मदद करता है। और खपड़ि में खुजली और खुश्की को भी ठीक करता है।


Image Source : lifeberrys

करी पत्ता और नारियल तेल रोके असमय बालों को सफ़ेद होने से
करी पत्ते और नारियल के तेल में ऐसा गुण होता है जिससे मृत त्वचा की कोशिकाओं को हटाने में मदत मिलता है। यह मेलेनिन (जो बालों के रंग को बनाए रखता है) को भी मेंटेन करता है, जिससे समय से पहले बालों को सफ़ेद होने से रोका जा सकता है।


Image Source: stylecraze

लम्बे और घने बालों के लिए हिबिस्कस का तेल

हिबिस्कस यानि की गुड़हल इसमें अमीनो एसिड और विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है, दोनों ही बालों के विकास के लिए आवश्यक पोषक तत्व होते हैं। इस तेल को लगाने से स्कैल्प को मिलता है और यह बालों के विकास को बढ़ावा देने में मदद करता है

Leave a comment