हस्बैंड वाइफ दोनों के वर्क कल्चर में अब लगभग अधिकांश घरों में हाउस मेड की जरूरत पड़ने लगी है आखिर जरूरत भी क्यों न पड़े पहले गृहणियों को केवल घर संभालना होता था जबकि हस्बैंड पैसा कमा कर लाते थे और दोनों पैसे कमा रहे हैं तो घर का खाना और दूसरे कार्यों के लिए हाउसमेड की जरूरत स्वभाविक है। पर मुश्किल तब आती है जब हाउसमेड और आपके बीच तारतम्य नहीं बन पाता है और ऐसी स्थिति में आपकी अपेक्षाओं के अनुरूप कार्य निष्पादित नहीं हो पाता है और चिढ़ उत्पन्न होती है। धीरे-धीरे फिर हाउसमेड के साथ आपका रिश्ता बिगड़ता ही चला जाता है जो अंततः किसी हाउसमेड के जाने और दूसरी के आने तक ही पहुंचता है।

Image Source: morace.com

जी हां बेशक आपकी गलती नहीं होती है बल्कि हाउसमेड की कई गलतियां होती है या सारी गलतियां उसी की होती है लेकिन जरा सोच के देखिए कि क्या वाकई कामवाली बाई के साथ आपका रिश्ता प्रोफेशनल है? क्या वाकई उसे उचित सम्मान दे पाते हैं? और उचित सम्मान के साथ अपनी अपेक्षाओं को खुले मन से बता पाते हैं? हाउसमेड अपनी जिम्मेदारियों को पूरी कर पाती हैं अगर इन बातें का जवाब सकारात्मक है तो यकीन मानिए आप गृह कार्य करने वाली हाउसमेड से कभी भी परेशान नहीं होंगे। इस सन्दर्भ में कुछ विशेष बातों को ध्यान में रखने की जरुरत है।

शर्तें क्लियर रखें
जिस प्रकार से एक कंपनी में कोई नया एम्पलाई हायर होता है तो उसे सभी तरह की चीजों के बारे में जानकारी दी जाती है ठीक उसी प्रकार से कामवाली बाई को भी सारी बातें स्पष्ट ढंग से बता दें। जैसे कितनी छुट्टी मिलेगी, क्या अधिक छुट्टियों में पैसे कटेंगे, इमरजेंसी में अगर जरूरत पड़ती है तो क्या कोई दूसरा अरेंजमेंट किया जाना चाहिए, क्या वह करा सकती है, मेहमान आते हैं तो क्या एक्स्ट्रा पैसा देना पड़ेगा यह सारी बातें आपको बेहद प्रोफेशनल ढंग से शुरू में ही बता देनी होगी, जिन बातों पर वह हामी भर्ती है और जिन बातों पर वह शख्त है उन दोनों चीजों को ध्यान में रखें। अगर उसे महीने में चार छुट्टियां चाहिए तो आप उस दिन छुट्टी दे दो छुट्टी न लेने की जिद ना करें, बल्कि उसको चार छुट्टी है सही ढंग से आप नियंत्रित हो कर दे।


Pic: montessoricenterroom.com

बोनस
इसके बाद वक्त आता है बोनस का जी हां जिस प्रकार से आप किसी कंपनी में कार्य करते हैं तो होली दिवाली या फिर दूसरे अवसरों पर आपको कमीशन के रूप में कार्य करने पर बोनस के रूप में अतिरिक्त सरप्राइज़ मिलता है ठीक उसी प्रकार से कामवाली बाई भी एक प्रोफेशनल ही तो है तो ऐसी स्थिति में उसे कभी कबार सरप्राइज करें और बोनस देकर उसे लंबे समय तक अपने पास रहने की राह पर आगे बढ़ें।

अपना व्यव्हार नियंत्रित रखें
एक और बात जो ध्यान में आती है वह है कामवाली बाईयों के सामने सेन्स्टिव बातों ना करें या ऐसा व्यवहार ना करें जिससे बाहर जाने पर आपकी बदनामी हो सकती है। मतलब हस्बैंड वाइफ अगर काम वाली बाई के सामने लड़ जाते हैं या बच्चों को ट्रीट करने का आप का तरीका ठीक नहीं है तो आप यकीन मानिए अधिकांश कामवाली बाई इस तरह की बातें एक जगह से दूसरे जगह स्वाभाविक रूप से करती हैं।

इधर -उधर की बातें ना करें
हाउसमेड के सामने बातचीत करने में बेहद संयम का परिचय दें उसके साथ आप कोई चुगली ना करें और ना उसे ही किसी और की चुगली करने दें। आपके ऐसा करने से वो भी आपके साथ नियंत्रित व्यव्हार करेगी और आपका रिस्ता लम्बे समय तक चलेगा।


Pic: geographyandyou

इंसानियत के नाते अगर आड़े वक्त में उसको कुछ पैसों की जरूरत पड़ती है तो आप दे या ना दे मगर इस बाबत एक विचार अवश्य करें। ध्यान रखें अगर छोटे मोटे अमाउंट के देने से किसी की समस्या दूर हो सकती है वो भी जो आपके घर कामकर रहा है तो मुझे नहीं लगता इसमें कोई समस्या होनी चाहिए।

Leave a comment