Sunday, September 27, 2020

Author page: Sakshi Jain

कितना हाई है आपका डेटिंग स्टैंडर्ड?

कितना हाई है आपका डेटिंग स्टैंडर्ड?

डेटिंग को लेकर किस के मन में उत्सुकता नहीं होती है। जैसे – जैसे समय बीतता है कई ऐसी नई बातें आपको हर दिन महसूस होती हैं, धीरे धीरे ही आप खुद को और खुद की चॉइस को समझ पाते हैं। निश्चित रूप से कई व्यक्तियों का…

अपनाएं फैशन के इन ‘सटीक फंडों’ को

अपनाएं फैशन के इन ‘सटीक फंडों’ को

फैशन आज के जमाने में एक बहुत ही आवश्यक चीज बन गई है। इससे व्यक्ति ना केवल स्टाइलिश नजर आता है, बल्कि उसका सेल्फ कॉन्फिडेंस भी ग्रो होता है। यूं फैशन करना कोई राकेट साइंस जैसा काम नहीं है, बल्कि इसके लिए आपको थोड़ा सचेत रहना पड़ता…

घरेलू उपचारों के पीछे छिपा विज्ञान

घरेलू उपचारों के पीछे छिपा विज्ञान

आपने अक्सर देखा होगा कि अगर कोई बच्चा बिस्तर से गिर जाए तो उसकी मां चोट लगी जगह पर हल्दी का लेपन कर देती है। इसी प्रकार अगर खांसी होती है तो हल्दी वाला दूध भी आपने कई बार पिया होगा। इसी प्रकार सर दर्द होता है…

‘आदतें’ जिनसे खुशियां मिलती हैं!

‘आदतें’ जिनसे खुशियां मिलती हैं!

वैसे तो इंसान के जीवन में खुशियों का कोई मोल नहीं होता और किसको किस चीज से खुशी मिले इसका कोई स्थाई मंत्र नहीं है। बावजूद इसके कुछ बातें हैं जो आप को खुश रखती हैं और इस लेख में इन्हीं बातों की चर्चा करेंगे। छोटी चीजों…

कोल्हापुरी चप्पल: लाइफ़स्टाइल का पुराना अंदाज

कोल्हापुरी चप्पल: लाइफ़स्टाइल का पुराना अंदाज

कोल्हापुरी चप्पल पहनना लोग अपनी शान समझते रहे हैं। ना केवल पुरुष बल्कि महिलाओं में भी इसका अच्छा खासा क्रेज रहा है। इसका क्रेज कई सौ साल पहले से हाल-फिलहाल तक कायम रहा था। ऐसे में लाइफ स्टाइल में खास स्थान रखने वाली कोल्हापुरी चप्पल के बारे…

समोसे का जवाब नहीं!

समोसे का जवाब नहीं!

आखिर वह कौन सा भारतीय होगा जिसे समोसा खाना पसंद नहीं होगा! चाहे लाइफ़स्टाइल कितनी भी बदल गई हो लेकिन समोसे का स्थान आज भी बेहद महत्वपूर्ण है। पर क्या आप इसकी कहानी जानते हैं आइए देखते हैं कुछ फैक्ट्स को जो आपके पसंदीदा समोसे से जुड़े…

समय रहते छुड़ाएं बच्चे की अंगूठा चूसने की आदत!

समय रहते छुड़ाएं बच्चे की अंगूठा चूसने की आदत!

छोटे बच्चों को आपने अक्सर मुंह में अंगूठा चूसते हुए देखा होगा। छोटे बच्चों को अंगूठा चूसते हुए देखना अच्छा भी लगता है, लेकिन यही आदत बड़े होने पर अगर जारी रहती है तो इसे काफी बुरा माना जाता है। 6 महीने से लेकर ढाई -तीन साल…